Tag: Rahat Indori Shayari

Rahat Indori Shayari Best collection 1

Rahat Indori Shayari – Top and famous shayari collection of great shayar Rahat Indori

Rahat Indori Shayari

रोज पत्थर की हिमायत में ग़ज़ल लिखते हैं
रोज शीशों से कोई काम निकल पड़ता है

Roj patthar ki himayat me gazal likhte hain
Roj sheeshon se koi kaam nikal padta hai


Rahat Indori Shayari

उसकी याद आयी है साँसो ज़रा आहिस्ता चलो
धड़कनो से भी इबादत में खलल पड़ता है

Uski yaad aayi hai saanso zara aahista chalo
Dhadkano se bhi ibadat me khalal padta hai


मैं आखिर कौन सा मौसम तुम्हारे नाम कर देता
यहाँ हर एक मौसम को गुज़र जाने की जल्दी थी

 

Main aakhir koun sa mousam tumhare naam kar deta
Yahan har ek mousam ko guzar jane ki jaldi thi


शाखों से टूट जाएँ वो पत्ते नहीं हैं हम
आंधी से कोई कह दे कि औकात में रहे

Shaakhon se toot jayen wo patte nahn hain ham
Aandhi se koi kah de aoukat mein rahe


सफर की हद है वहां तक कि कुछ निशान रहे
चले चलो कि जहाँ तक ये आसमान रहे

Safar ki hadh hai wahan tak ki kuchh nishan rahe
Chale chalo ki jahan tak ye aasman rahe


हाथ खाली हैं तेरे शहर से जाते जाते
जान होती तो मेरी जान लुटाते जाते

 

Haath khali hain tere shahar se jate jate
Jaan hoti to meri jaan lutate jate


इन्हे भी पढ़ें (Also read This)

Best shayri collection of Ahmad faraz

Famous Shayari Collection Of Gulzar


Rahat Indori Shayari

मैंने अपनी खुश्क आँखों से लहू छलका दिया
इक समंदर कह रहा था मुझ को पानी चाहिए

Maine apni khushq aankhon se lahu chhalka diya
Ik samandar ka raha tha mujh ko pani chahiye


दोस्ती जब किसी से की जाये
दुश्मनों की भी राय ली जाये

Dosti jab kis se ki jaye
Dushmano ki bhi ray li jaye


तूफानों से आँख मिलाओ,सैलाबों पर वार करो
मल्लाहों का चक्कर छोडो,तैर के दरिया पार करो

Toofano se aankh milao,sailabon pa waar karo
Mallaho ka chakkar chhodo,tair ke dariya paar karo


आँखों में पानी रखो होंठो पे चिंगारी रखो
ज़िंदा रहना है तो तरकीबें बहुत सारी रखो

Aankon mein paani rakho hontho pe chingari rakho
Zinda rahna hai to tarqeeben bahut saari rakho


Rahat Indori Shayari

बहुत गुरुर है दरिया को अपने होने पर 
जो मेरी प्यास से उलझे तो धज्जियाँ उड़ जाएं

Bahut gurur hai dariya ko apne hone par
Jo meri pyaas se uljhe to dhajjiyan ud jaye


हर हक़ीक़त को मेरी ख़ाक समझने वाले
मैं तेरी नींदें उड़ाने के लिए काफी हूँ

Har haqeeqat ko meri khak samjhne wale
Main teri neenden udane ke liye kaafi hoon


अफवाह थी कि मेरी तबियत ख़राब है
लोगों ने पूछ पूछ कर बीमार कर दिया

Afwaah thi ki meri tabiyat kharab hai
Logo ne poochh poochh kar beemar kar diya


दो गज़ सही ये मेरी मिलकियत तो है
ऐ मौत तूने मुझे जमींदार कर दिया

Do gaz sahi ye meri milkiyat to hai
Aye mout tune mujhe zamindaar kar diya


चेहरों के लिए आईने क़ुर्बान किये हैं
इस शौक में अपने बड़े नुक्सान किये हैं
महफ़िल में मुझे गालियाँ देकर है बहुत खुश
जिस शख्स पर मैंने बड़े एहसान किये हैं

shayari store 2018